अस्पताल में जोरदार धमाके के बाद लगी आग, ऐसे टला बड़ा हादसा

  • अस्पताल में जोरदार धमाके के बाद लगी आग, ऐसे टला बड़ा हादसा
You Are HereHimachal Pradesh
Friday, August 18, 2017-1:53 AM

सोलन: क्षेत्रीय अस्पताल सोलन में बिजली की तारों में शार्ट सर्किट से जोरदार धमाका हुआ और आग लग गई। गनीमत यह रही कि पावर हाऊस से तुरंत बिजली काट दी गई अन्यथा बड़ा हादसा हो सकता था। इस कारण अस्पताल में 12 घंटे तक बिजली बंद रही और बिजली से चलने वाली सभी सेवाएं भी ठप्प रहीं जिससे मरीजों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। जानकारी के अनुसार बुधवार रात डेढ़ से 2 बजे के आसपास सभी मरीज सो रहे थे और कुछ कर्मचारी ड्यूटी पर थे। उसी समय ब्लड बैंक के साथ लगते विद्युत शिकायत कक्ष के बाहर जोरदार धमाका हुआ जिससे तारों में आग लग गई और पूरी मंजिल में धुआं ही धुआं फैल गया। कर्मचारी हड़बड़ाहट में इधर-उधर भागने लगे। एक कर्मचारी ने वरिष्ठ चिकित्सा अधीक्षक डा. महेश गुप्ता को फोन पर इसकी सूचना दी तो उन्होंने तुरंत पावर हाऊस सूचना देकर इस क्षेत्र की बिजली कटवा दी।

वैन में शिफ्ट किया रक्त 
बिजली बंद होने से ब्लड बैंक में रखे रक्त के खराब होने की नौबत आ गई तो एहतियात के तौर पर इसे ब्लड मोबाइल वैन में रखा गया। बता दें कि इस अस्पताल में काफी मात्रा में रक्त रहता है और यहीं से नालागढ़, अर्की व परवाणु ब्लड स्टोरेज यूनिट के लिए रक्त भेजा जाता है। रात के समय क्षेत्रीय अस्पताल में 200 से अधिक मरीज, तीमारदार और कर्मचारी मौजूद थे। वीरवार दोपहर करीब 2 बजे बिजली व्यवस्था को बहाल कर दिया गया।

पुरानी हो गई है वायरिंग 
क्षेत्रीय अस्पताल के पुराने भवन की वायरिंग बहुत पुरानी हो चुकी है और अब जगह-जगह से यह खराब होने लगी है। इसे बदलने के लिए कई बार उच्चाधिकारियों से मांग की गई है लेकिन अभी तक इसे नहीं बदला गया है। वहीं अस्पताल के वरिष्ठ चिकित्सा अधीक्षक डा. महेश गुप्ता ने बताया कि बिजली बंद होने से सभी उपकरण व एक्स-रे मशीन भी नहीं चल पाई। अस्पताल में पुरानी वायरिंग को बदलने के लिए एस्टीमेट बनाने के निर्देश दिए गए हैं और इसे जल्द ही बदलवा दिया जाएगा।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !