प्रार्थी को मिला फर्जी नियुक्ति पत्र, परिवार के पैरों तले खिसकी जमीन

  • प्रार्थी को मिला फर्जी नियुक्ति पत्र, परिवार के पैरों तले खिसकी जमीन
You Are HereHimachal Pradesh
Tuesday, August 8, 2017-10:36 PM

बड़ूही: बैंक में सहायक प्रबंधक के पद पर चयन के बाद मिले नियुक्ति पत्र पर दिए दुर्गम स्टेशन के स्थानांतरण के लिए बैंक के स्थानीय डायरैक्टर के पास पहुंचे प्रार्थी और अभिभावकों के पैरों तले जमीन खिसक गई जब उन्हें पता चला कि जिस जिला की ब्रांच में उनको ज्वाइन करने का पत्र मिला है, वहां उस बैंक की कोई शाखा ही नहीं है। डायरैक्टर ने उस पत्र को फर्जी करार दिया और बताया कि जिस लिखित परीक्षा के बाद इसे जारी किया गया है, उसका तो परिणाम भी अभी बैंक ने घोषित नहीं किया है। बैंक में कथित फर्जी नौकरी का नियुक्ति पत्र जारी करने के सनसनीखेज मामले का पटाक्षेप हुआ है।
महिला को दिए गए नियुक्ति पत्र में 20 जुलाई से 20 अगस्त के बीच लाहौल-स्पीति जिला के किब्बर में ज्वाइन करने को कहा गया है।

नियुक्ति पत्र में असिस्टैंट जनरल मैनेजर के हस्ताक्षर
नियुक्ति पत्र में 250 में से 196 अंक लेकर प्रार्थी को 13वां रैंक दिया गया है। नियुक्ति पत्र में बाकायदा पे स्केल का जिक्र किया गया है जिसमें बेसिक 10,300, ग्रेड-पे 4200 व भत्ते देने का जिक्र किया गया है। असिस्टैंट जनरल मैनेजर के कथित हस्ताक्षर से 28 जुलाई, 2017 को जारी इस नियुक्ति पत्र में नियम 47-ए का हवाला देकर 15 दिनों के भीतर अगर ठीक न लगे तो अन्य स्थान पर जगह खाली होने पर नियुक्ति की भी बात कही गई है। सर्विस रूल्स की कई बातें इस नियुक्ति पत्र में लिखी गई हैं।

पत्र जारी करने वाला परिवार पर बना रहा दबाव
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मामले की पोल खुलते देख पत्र जारी करने वाले द्वारा महिला और इसके परिवार पर दबाव बनाकर मामले को दबाने का प्रयास किया जा रहा है। बैंक के डायरैक्टर द्वारा मामले को सामने लाने के बाद कथित रूप से आरोपी ने महिला और अभिभावकों को कहा कि वह खुद ही इसका तबादला रद्द करवाकर सही जगह करवा लेगा।

बैंक का मामले से कोई लेना-देना नहीं 
इस बारे जब उक्त बैंक के डायरैक्टर से बात की गई तो उन्होंने बताया कि  कुछ लोग इस सिलसिले में मिले थे लेकिन जहां की बात बताई वहां बैंक की कोई ब्रांच ही नहीं है। मैंने संबंधित महिला को कानूनी कार्रवाई करने को कहा था। इस बारे बैंक के चेयरमैन ने कहा कि इस पूरे मामले से बैंक का कोई लेना-देना नहीं है। महिला और आरोपी दोनों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!