Subscribe Now!

राशन बांटने में अब डिपो धारक नहीं कर सकेंगे गोलमाल, सरकार ने शुरू की नई पहल

  • राशन बांटने में अब डिपो धारक नहीं कर सकेंगे गोलमाल, सरकार ने शुरू की नई पहल
You Are HereHimachal Pradesh
Sunday, November 19, 2017-10:22 AM

शिमला: राशन वितरण प्रणाली में पारदर्शिता बरतने के लिए सरकार अब और भी सख्त होने जा रही है। देश के लाखों उपभोक्ताओं को मिलने वाले सस्ते राशन का अब डिपो धारक गोलमाल नहीं कर सकेंगे। राशन की हेराफेरी को लेकर डिपुओं से मिल रही शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए सरकार अब नई पहल करने जा रही है। इस पहल के अनुसार उपभोक्ताओं के मोबाइल फोन पर एस.एम.एस. के माध्यम से डिपुओं में राशन का कोटा पहुंचते ही सूचना मिलेगी।


सामान खरीदते ही मोबाइल फोन पर मिल जाएगी इसकी जानकारी
इसके अतिरिक्त उपभोक्ताओं ने संबंधित माह में राशन का कितना कोटा उठाया है या नहीं इसकी जानकारी भी सामान खरीदते ही तुरंत मोबाइल फोन पर मिल जाएगी। इसके लिए सभी उपभोक्ताओं से मोबाइल नंबर मांगे जाएंगे, जिसकी अंतिम तारीख 31 मार्च 2018 होगी। केंद्र सरकार के संयुक्त सचिव सुभाशीष पांडा ने शिमला में खाद्य नागरिक आपूर्ति विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर इस बारे में निर्देश जारी किए हैं। सुभाशीष पांडा बीते 2 दिनों से शिमला में हैं। 


एफ.सी.आई. के गोदामों का निरीक्षण किया
डिपुओं में दिए जाने वाले सस्ते राशन की गुणवत्ता को जांचने के लिए केंद्र सरकार के संयुक्त सचिव ने ढली में स्थित एफ.सी.आई. के गोदामों सहित राज्य नागरिक आपूॢत निगम के दो होल सेल गोदामों का निरीक्षण किया। इसके अतिरिक्त शनिवार को ढली में एक उचित मूल्य की दुकान में भी जाकर पॉस मशीन का निरीक्षण किया। इस दौरान मशीन की फंक्शनिंग को लेकर भी जानकारी ली गई। इसके अतिरिक्त सस्ते राशन की समय पर उपलब्ध होने के बारे में भी जानकारी ली गई। इस दौरान खाद्य नागरिक आपूर्ति विभाग के अधिकारी भी मौजूद थे। 


 


अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन