गहरी खाई में लुढ़का टिप्पर, IGMC ले जाते हुए चालक ने तोड़ा दम

  • गहरी खाई में लुढ़का टिप्पर, IGMC ले जाते हुए चालक ने तोड़ा दम
You Are HereHimachal Pradesh
Monday, December 11, 2017-4:49 PM

करसोग (यशपाल/पुरुषोत्तम): करसोग के कोटलू में एक टिप्पर के खाई में लुढ़कने से चालक की मौत हो गई। हादसा रविवार देर रात का है। जानकारी के अनुसार टिप्पर नंबर (एचपी 30-4284) करसोग की तरफ आ रहा था तथा कोटलू के पास पहुंचते ही टिप्पर तकरीबन 100 मीटर गहरी खाई में लुढ़क गया। हादसा रात के तकरीबन डेढ़ बजे के आस-पास हुआ बताया जा रहा है। हादसे के दौरान कोटलू में एक कार चालक ने टिप्पर गिरने की आवाज सुनी तथा मौके का रूख किया। रात के अंधेरे में यह पता लगाना मुश्किल था कि टिप्पर में कितने लोग सवार थे। कार चालक ने हादसे की सूचना स्थानीय लोगों को दी तथा ग्रामीणों के एकत्रित होने के बाद घायल टिप्पर चालक को करसोग अस्पताल पहुंचाया। 


चालक की गंभीर हालत को देखते हुए आई.जी.एम.सी. किया  रैफर
टिप्पर चालक की गंभीर हालत को देखते हुए चिकित्सकों ने उसे प्राथमिक उपचार देने के बाद आई.जी.एम.सी. रैफर कर दिया। वहां पहुंचते ही डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। करसोग से आई.जी.एम.सी. पहुंचने से पहले ही जख्मों का ताव न सहते हुए टिप्पर चालक ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। मृतक की पहचान लाभ सिंह (35) पुत्र भवानी दत निवासी मनशाणा (करसोग) के रूप में हुई है। मृतक के शव का पोस्टमार्टम आई.जी.एम.सी. शिमला में करवाने के बाद पुलिस ने शव परिजनों को सौंप दिया है। उधर, करसोग पुलिस ने दुर्घटना का मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। हादसे के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है तथा पुलिस हादसे के कारणों की जांच कर रही है।


करसोग में होती स्वास्थ्य सुविधाएं तो बच जाती चालक की जान
करसोग में स्वास्थ्य सुविधाओं के अभाव में हादसे का शिकार हुए टिप्पर चालक ने शिमला पहुंचने से पहले ही दम तोड़ दिया। सरकार ने करसोग में तकरीबन 4 करोड़ की लागत से अस्पताल का भव्य भवन तो बना दिया लेकिन विशेषज्ञ चिकित्सकों की भर्ती करवा पाने में सरकार नाकाम रही है। करसोग अस्पताल में यदि विशेषज्ञ चिकित्सक व अन्य सुविधाएं होती तो घायल टिप्पर चालक का ईलाज यहीं हो जाता व शायद उसकी जान बच जाती।


अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन