कांग्रेस नेता बोले-वीरभद्र को सबसे बड़ी बाधा मानते हैं भाजपाई, रच रहे षड्यंत्र

  • कांग्रेस नेता बोले-वीरभद्र को सबसे बड़ी बाधा मानते हैं भाजपाई, रच रहे षड्यंत्र
You Are HereHimachal Pradesh
Tuesday, September 19, 2017-11:07 PM

शिमला: वन मंत्री ठाकुर सिंह भरमौरी तथा शहरी विकास मंत्री सुधीर शर्मा ने केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद द्वारा मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह पर लगाए गए झूठे आरोपों की कड़ी निंदा की है। मंत्रियों ने संयुक्त बयान में कहा है कि भाजपा नेता वीरभद सरकार की लोकप्रियता से घबराए हुए हैं तथा आगामी विधानसभा चुनावों में भारी हार के आभास से मुख्यमंत्री तथा राज्य सरकार के खिलाफ  दुष्प्रचार की नीति अपना रहे हैं। मंत्रियों ने कहा कि यदि प्रदेश में कांग्रेस सरकार की लोकप्रियता कम हो गई होती तो भाजपा के प्रमुख नेता प्रदेश में इस तरह डेरा डाले नहीं बैठे होते। 

सरकार ने प्रदेश के कोने-कोने में किया विकास
उन्होंने कहा कि सत्ता की भूख में भाजपा हर तरह के झूठे प्रचार फैलाने में लगी है। भाजपा नेता वीरभद्र सिंह को अपने और सत्ता के बीच प्रमुख बाधा मानते हैं और इसी के परिणामस्वरूप उनके खिलाफ  षड्यंत्र रचे जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा नेता अपने हथकड़ों में कभी सफल नहीं होंगे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश के कोने-कोने में अभूतपूर्व विकास सुनिश्चित किया है और समाज का प्रत्येक वर्ग कल्याणकारी नीतियों तथा कार्यक्रमों से लाभान्वित हुआ है। जहां तक केंद्र द्वारा धन उपलब्ध करवाने की बात है तो प्रत्येक राज्यों को केंद्र सरकार द्वारा उसका देय हिस्सा मिलना कोई नई बात नहीं है लेकिन सच यह है कि केंद्र सरकार ने प्रदेश को मिलने वाली विभिन्न केंद्रीय पोषित योजनाओं को कम किया है तथा विभिन्न योजनाओं के लिए धन भी रोका गया है। 

भाजपा को विस चुनावों में जनता सिखाएगी सबक
उन्होंने कहा कि भाजपा नेता झूठे प्रचार करने की हर संभव कोशिश कर रहे है लेकिन वे अपने इन इरादों में कभी भी सफल नहीं होंगे क्योंकि देश की जनता उनके दुष्प्रचारक नीतियों से भलीभांति परिचित है तथा आगामी विधानसभा चुनावों में लोग भाजपा को सबक सिखाने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि आज आवश्यक वस्तुओं जैसे कि एल.पी.जी., पैट्रोल, डीजल, सब्जियां तथा दालों की कीमतें आसमान छू रही हैं तथा देश की आर्थिकी सबसे निचले स्तर पर पहुंच चुकी है। 

एन.डी.ए. सरकार की विमुद्रीकरण नीति आम व्यक्ति के लिए बड़ी सजा
एन.डी.ए. सरकार की विमुद्रीकरण नीति आम व्यक्ति के लिए बड़ी सजा साबित हुई क्योंकि इस नीति की वजह से आम व्यक्ति को घोर कठिनाइयों का सामना करना पड़ा है। उन्होंने कहा कि पी.एम. मोदी ने 3 करोड़ युवाओं को रोजगार प्रदान करने के स्वप्न दिखाए थे लेकिन सत्ता में 3 साल पूरे करने के उपरांत भी केंद्र सरकार ने कोई रोजगार अवसर प्रदान नहीं किए। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!