कांग्रेस में 40 से 45 सीटों के प्रत्याशी फाइनल, पुराने चेहरों पर ही खेला जाएगा दांव

  • कांग्रेस में 40 से 45 सीटों के प्रत्याशी फाइनल, पुराने चेहरों पर ही खेला जाएगा दांव
You Are HereHimachal Pradesh
Tuesday, October 17, 2017-9:40 AM

शिमला: कांग्रेस मंत्रियों, मुख्य संसदीय सचिव और सिटिंग विधायकों के टिकट नहीं काटेगी। कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव में पुराने चेहरों पर ही दांव लगाने का निर्णय लिया है। पार्टी ने 40-45 से अधिक सीटों के प्रत्याशी भी फाइनल कर दिए हैं। सोमवार को दिल्ली में हुई बैठक के बाद कांग्रेस राज्य चुनाव समिति ने 40 से 45 विधानसभा क्षेत्रों से सिंगल नाम ही केंद्रीय चुनाव समिति (सी.ई.सी.) को भेजे जबकि शेष सीटों से 3-3 नामों का पैनल तैयार किया गया। ऐसे में पार्टी मंगलवार को भी प्रत्याशियों की सूची जारी कर सकती है। कांग्रेस बीते विधानसभा चुनाव के टिकटों में मामूली फेर-बदल करेगी। मिशन रिपीट का सपना लेकर चली कांग्रेस युवा और नए चेहरों पर दाव लगाने से कतरा रही है। ऐसे में टिकट की दौड़ में शामिल कई युवा चेहरों के सपने चकनाचूर हो गए हैं। 


टिकट आबंटन के बाद कांग्रेस को भी बगावत का अंदेशा
शिमला शहरी के साथ-साथ सरकाघाट विस सीट को लेकर कांग्रेस में खासा पेंच फंसा हुआ है। सूत्रों के अनुसार ऐसे विस क्षेत्र जहां कांग्रेस लगातार 2 बार हारी है, उन विस क्षेत्रों के टिकट को लेकर दिल्ली में देर रात तक माथापच्ची होती रही। विपक्षी दल भाजपा ही नहीं सत्ताधारी कांग्रेस के समक्ष भी बगावत की चुनौती है। जैसे टिकट आबंटन से पहले भाजपा में मंडी सदर व झंडूता आदि स्थानों पर बगावत के सुर उठने लगे हैं। इसी तरह टिकट आबंटन के बाद कांग्रेस को भी बगावत का अंदेशा है। कांग्रेस के बाहर चल रहे कुछ नेता पूर्व विधायक व पार्टी के वरिष्ठ नेता जैसे योगराज, मस्त राम, ईश्वर दास, कश्मीर सिंह व धर्मवीर धामी पार्टी में वापस नहीं लेने की सूरत में चुनाव लड़ने का ऐलान कर चुके हैं। 


 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!