CM ने पलटा सुक्खू का फैसला, अपने इस करीबी को बनाया अध्यक्ष

You Are HereHimachal Pradesh
Thursday, October 5, 2017-12:18 PM

शिमला: हिमाचल प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनावों से ठीक पहले सीएम वीरभद्र सिंह के समर्थक यशवंत छाजटा ने बुधवार को जहां शिमला ग्रामीण के अध्यक्ष का पदभार ग्रहण किया वहीं पार्टी प्रदेशाध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू इस समारोह में गौरहाजिर नजर आए। दरअसल जिला शिमला ग्रामीण कांग्रेस अध्यक्ष को लेकर सीएम वीरभद्र ‌सिंह ने प्रदेश अध्यक्ष सुखविंद्र सुक्‍खू का फैसला पलट दिया है। सीएम की जिद्द के आगे झुकते हुए प्रदेश कांग्रेस संगठन ने रितेश कपरेट को जिला शिमला ग्रामीण के कार्यकारी अध्यक्ष पद से हटाकर नई तैनाती दी है। कपरेट को अब हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी का संगठन सचिव नियुक्त किया गया है। 
PunjabKesari

वीरभद्र के समर्थक यशवंत छाजटा ने पदभार संभाला
मंगलवार को यह बात तय थी कि सुक्खू बुधवार को छाजटा के पदभार ग्रहण समारोह में मौजूद रहेंगे। लेकिन जैसे ही राजीव भवन में समारोह शुरू हुआ तो पार्टी प्रदेशाध्यक्ष सुक्खू वहां नहीं दिखे। कारण यह भी हो सकता है कि छाजटा, सुक्खू समर्थक रितेश कपरेट की जगह ले रहे हैं, इसलिए वह न आए हो। बताया जाता है कि इससे पहले कपरेट ग्रामीण के कार्यवाहक अध्यक्ष के तौर पर काम कर रहे थे। जबकि पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी से वीरभद्र सिंह की मुलाकात के बाद ही छाजटा को शिमला ग्रामीण की कमान सौंपी गई। आज के इस माहौल के बाद यह साफ है कि सरकार-संगठन का राफता ना ही तो पहले ठीक था न ही अब है, जबकि मंडी में राहुल गांधी की रैली भी सिर पर है। इस सबके बीच आज प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में वीरभद्र के समर्थक यशवंत छाजटा ने पदभार संभाल लिया। इस मौके पर सिंचाई व जन स्वास्थ्य मंत्री विद्या स्टोक्स व युवा कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष विक्रमादित्य सिंह मौजूद रहे। 


विक्रमादित्य प्रदेश का भविष्य: स्टोक्स
विद्या स्टोक्स ने इस अवसर पर कहा कि प्रदेश में वीरभद्र सिंह सरकार द्वारा किए गए विकास कार्यों को जनता के बीच ले जाना है। उन्होंने कहा कि यशवंत छाजटा सुलझे हुए नेता हैं और वे सबको साथ लेकर यह कार्य करेंगे। स्टोक्स ने कहा कि युवा कांग्रेस अध्यक्ष विक्रमादित्य सिंह जोशीले और समझदार युवा हैं। उनके कंधों पर प्रदेश का भविष्य हैं। 


 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!