मालभाड़े को लेकर टूटा ट्रक आप्रेटरों के सब्र का बांध, कंपनी के गेट पर जमकर प्रदर्शन

  • मालभाड़े को लेकर टूटा ट्रक आप्रेटरों के सब्र का बांध, कंपनी के गेट पर जमकर प्रदर्शन
You Are HereHimachal Pradesh
Monday, April 17, 2017-10:57 PM

बिलासपुर: अपनी एक सूत्रीय मांग को लेकर पिछले 21 दिनों से हड़ताल कर रहे बिलासपुर व सोलन जिला के करीब 4 हजार ट्रक आप्रेटरों ने सोमवार को जे.पी. कंपनी के गेट के बाहर जमकर प्रदर्शन किया और कंपनी प्रबंधन व दोनों जिलों के प्रशासन के विरुद्ध जमकर नारेबाजी भी की। ट्रक आप्रेटरों के इस धरने की सूचना मिलते ही नयनादेवी के विधायक रणधीर शर्मा भी मौके पर पहुंचे तथा ट्रक आप्रेटरों के समर्थन में धरने पर बैठ गए। धरने को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि ट्रक आप्रेटर गत 25 मार्च से आंदोलन कर रहे हैं लेकिन इसके बावजूद भी कंपनी प्रबंधन ट्रक आप्रेटरों के 30 करोड़ रुपए मालभाड़े की अदायगी नहीं कर रहा है। पैसा न मिलने के कारण निजी फाइनांसर ट्रक आप्रेटरों की गाडिय़ों को जब्त कर रहे हैं।

 ट्रक आप्रेटरों की रोजी-रोटी का एकमात्र साधन 
 उन्होंने कहा कि ट्रक आप्रेटरों की रोजी-रोटी का एकमात्र साधन ये ट्रक ही हैं। उन्होंने कहा कि कंपनी प्रबंधन की लारेबाजी की कार्यप्रणाली के कारण अब ट्रक आप्रेटरों के सामने रोजी रोटी का संकट उत्पन्न हो गया है। उन्होंने दो टूक शब्दों में चेतावनी दी कि यदि कंपनी प्रबंधन ने शीघ्र मालभाड़े की अदायगी नहीं की तो भाजपा भी ट्रक आप्रेटरों के आंदोलन में कूद पड़ेगी। खारसी सभा के महासचिव दौलत सिंह ठाकुर ने ट्रक आप्रेटरों को संबोधित करते हुए ऐलान किया कि जब तक एस.डी.एम. बिलासपुर व एस.डी.एम. अर्की मौके पर नहीं पहुंचते और ट्रक आप्रेटरों का भुगतान नहीं करवाया जाता तब तक धरना-प्रदर्शन जारी रहेगा।

PunjabKesari

3 दिन में मालभाड़े की अदायगी करने का दिया आश्वासन
जे.पी. कंपनी के विरुद्ध सोलन व बिलासपुर जिला के ट्रक आप्रेटरों ने कंपनी के प्रबंधन की ओर से जे. शेरू द्वारा एस.डी.एम. अर्की व तहसीलदार बिलासपुर की मौजूदगी में 3 दिनों के भीतर मालभाड़े की अदायगी करने का आश्वासन दिए जाने के बाद ट्रक आप्रेटरों ने अपना धरना समाप्त कर दिया। खारसी सभा के महासचिव दौलत सिंह ठाकुर ने बताया कि धरना फिलहाल समाप्त कर दिया गया है लेकिन ट्रक तभी चलाए जाएंगे जब पूरा मालभाड़ा मिल जाएगा और यदि कंपनी ने अपने वायदे के मुताबिक 3 दिनों के अंदर पैसा न दिया तो इससे बड़ा आंदोलन किया जाएगा जिसकी सारी जिम्मेदारी बिलासपुर व सोलन जिला के प्रशासन की होगी।

पहले भी कही थी मालभाड़ा देने की बात
ट्रक आप्रेटरों ने कहा कि गत 25 मार्च को जिला अतिरिक्त दंडाधिकारी विनय कुमार की अध्यक्षता में जे.पी. उद्योग व ट्रक आप्रेटरों के भाड़े के विवाद को लेकर जे.पी. प्रबंधन व परिवहन सभाओं के पदाधिकारियों के बीच जो वार्ता हुई थी उसमें परिवहन सभाओं के पदाधिकारियों ने 40 करोड़ रुपए से ज्यादा मालभाड़ा 31 मार्च से पहले देने की बात कही थी लेकिन अभी तक 40 करोड़ रुपए में से केवल 10 करोड़ रुपए की अदायगी ही की गई है। उन्होंने कहा कि आपे्रटरों का आंदोलन बिल्कुल शांतिपूर्ण तरीके से चलेगा तथा जब तक पूरा मालभाड़ा नहीं दिया जाता उस समय तक ट्रकों के पहिए जाम रहेंगे।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!