फिर जहरीली हुई बालद नदी, नहीं रुक रहा उद्योगों का जहरीला पानी

  • फिर जहरीली हुई बालद नदी, नहीं रुक रहा उद्योगों का जहरीला पानी
You Are HereHimachal Pradesh
Monday, August 21, 2017-7:55 PM

बी.बी.एन. : औद्योगिक नगर झाड़माजरी के उद्योगों का जहरीला पानी नदियों में आने से नहीं रुक रहा है। उद्योगपति थोड़ी सी बारिश होने पर अपने उद्योग का गंदा जहरीला पानी नालों में छोड़ देते हैं और यह कैमिकल युक्त पानी बालद नदी में जा मिलता है तथा यह पानी दुर्गंध तो छोड़ता ही है साथ में झाग भी बहुत छोड़ता है जिससे लोग इस पानी को देख कर प्रशासन व विभाग को कोसते हैं। पिकअप यूनियन के पास बहने वाले नाले में तो यह दृश्य कभी भी देखा जा सकता है। ग्रामीणों ने बताया कि यह समस्या अरसे से चली आ रही है। इस जहरीले पानी के कारण किसान अपने पशुओं को नदी-नालों के पास चराने भी नहीं ले जा सकते और वहां पर इतनी बदबू आती है कि रोजाना ड्यूटी पर जाने वाले कामगार बुरी तरह से परेशान हैं। उद्योगों द्वारा बरती जा रही लापरवाही के चलते लोगों में बीमारी फैलने का भय व्याप्त है। राजेश कुमार, जोङ्क्षगद्र ठाकुर, रमेश शर्मा, कुलदीप, शेर सिंह, चंदन, विपिन व सोम नाथ सहित आदि ग्रामीणों ने बताया कि झाड़माजरी के इस नाले में कारखानों का जहरीला गंदा पानी आना आम बात हो गई है तथा कई बार प्रशासन व विभाग को इस बारे अवगत भी करवाया गया है लेकिन सैंपल भरने के अलावा और कोई कारवाई नहीं हुई है। 

स्थानीय लोगों को हो रही परेशानी
जहरीले पानी के आने सिलसिला अभी भी बरकार है जिसका खमियाजा स्थानीय लोगों को भुगतना पड़ रहा है। उन्होंने डी.सी. सोलन से इस सिलसिले में विभाग को सख्त आदेश देने व ऐसे लापरवाह उद्योगों के प्रति शीघ्र सख्त कार्रवाई कि मांग की। इस बारे जब बद्दी स्थित प्रदूषण नियंत्रण महकमे के अधिशासी अभियंता बृजभूषण से बात कि गई तो उन्होंने कहा कि ऐसे लापरवाही बरतने वाले उद्योगों का शीघ्र पता लगाया जाएगा और उचित कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!