BJP में शामिल होने की चर्चा पर Bali ने दिया बड़ा बयान, जानने के लिए पढ़ें खबर

  • BJP में शामिल होने की चर्चा पर Bali ने दिया बड़ा बयान, जानने के लिए पढ़ें खबर
You Are HereHimachal Pradesh
Thursday, September 21, 2017-7:50 PM

कुल्लू: वीरवार को कुल्लू में पत्रकार वार्ता में परिवहन, खाद्य आपूर्ति एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री जी.एस. बाली ने भविष्य में भाजपा में शामिल होने की चर्चा पर कहा कि मैं भविष्य की राजनीति नहीं करता और भविष्य के बारे में कुछ नहीं कहता। उन्होंने कहा कि मैं अभी यहां बैठा हूं और फिर गाड़ी में बैठूंगा तो मेरे साथ क्या होगा, इसका किसी को पहले ही कैसे पता हो सकता है। उन्होंने कहा कि दिवंगत मंत्री कर्ण सिंह जी आज हमारे बीच में नहीं हैं, क्या हमने कभी ऐसा सोचा था कि वह हमारे बीच नहीं होंगे। माधव राव सिंधिया व राजेश पायलट का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि वे प्लेन में बैठे और प्लेन क्रैश होने से वे हमें छोड़कर चले गए। उन्हें क्या इस बात पहले ही पता था कि उनके साथ ऐसा होगा। भविष्य में कुछ भी हो सकता है, इस पर बाली बोले कि मैंने ऐसा कुछ नहीं कहा।

किसी के नेतृत्व में चुनाव कराना मेरा कार्यक्षेत्र नहीं
उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस पार्टी किसके नेतृत्व में चुनाव लड़ेगी यह मेरा कार्यक्षेत्र नहीं है। मैं अपने विभागों का मंत्री हूं और मेरे विभागों के बारे में ही मुझसे जो पूछना है पूछो। पार्टी चुनाव किसके नेतृत्व में लड़ेगी यह कार्यक्षेत्र राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी, उपाध्यक्ष राहुल गांधी, प्रदेश प्रभारी सुशील कुमार शिंदे, मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह और प्रदेशाध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू के बीच का मामला है। सरकार और संगठन में बेहतर तालमेल नहीं है फिर मिशन रिपीट कैसे होगा, इस पर उन्होंने कहा कि सब कुछ बढिय़ा है। सरकार और संगठन में बेहतर तालमेल है। 

सभी को होता है कोर्ट जाने का अधिकार 
एच.आर.टी.सी. में जमकर भर्तियां किए जाने और फिर कइयों के कोर्ट जाने के सवाल पर बाली बोले कि सभी को कोर्ट जाने का अधिकार होता है। हम जो काम करते हैं सही काम करते हैं। अंतत: जीत सच की ही होती है। बसों में कंडक्टर 10 रुपए घंटे के हिसाब से रखने के मसले पर उन्होंने कहा कि वे लोग कंडक्टर नहीं हैं। स्किल डिवैल्पमैंट के तहत जो लोग आए हैं ये वे लोग हैं। इनके भी अब मैंने पैसे दोगुने कर दिए हैं। विधायकों और पूर्व विधायकों को पट्टे पर जमीन देने के सवाल पर उन्होंने कहा कि मैं गरीबों का पक्षधर हूं और जमीन गरीबों को मिलनी चाहिए, साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि जिस समय यह निर्णय लिया गया मैं उस समय कैबिनेट में नहीं था। मैं लेट पहुंचा। मेरे सामने जो निर्णय लिए गए उनके बारे में मैं बता सकता हूं। 

महेश्वर जी माल तो खिलाओ
पत्रकार वार्ता के बाद उन्होंने कहा कि चलिए अब थोड़ा सा कुछ खा पी लें। इसके बाद उन्होंने महेश्वर सिंह की ओर मुड़कर कहा कि महेश्वर जी आपके शहर में हंै कुछ माल तो खिलाओ। गप्पों से ही काम चला रहे हो। इस पर महेश्वर सिंह ने मुस्कुराते हुए जवाब दिया कि खाद्य आपूर्ति मंत्री के पास ही माल की कमी हो तो हम क्या करें। इस पर हाल में खूब ठहाके गूंजे। बाली ने जवाब दिया कि खाद्य आपूॢत मंत्री के पास ही माल क्यों हो। मंत्री के भाई के पास भी हो, जिस पर हाल देर तक ठहाकों से गूंजता रहा। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!