मणिमहेश यात्रा में खराब मौसम बना रुकावट, यात्रियों को नहीं मिल रही यह सुविधा

  • मणिमहेश यात्रा में खराब मौसम बना रुकावट, यात्रियों को नहीं मिल रही यह सुविधा
You Are HereHimachal Pradesh
Monday, August 21, 2017-2:13 AM

चम्बा: हवाई मार्ग के माध्यम से मणिमहेश की खड़ी चढ़ाई व घंटों की पैदल यात्रा से राहत पाने के लिए लोग हैलीटैक्सी सेवा पाने की चाहत में भरमौर तो पहुंच रहे हैं लेकिन उन्हें यहां पहुंच कर निराश होना पड़ रहा है। उधर, यात्रियों की सुविधा के लिए शुरू की गई यह हैलीटैक्सी सेवा प्रशासन व लोगों के लिए परेशानी का कारण साबित हो रही है। भरमौर प्रशासन की स्थिति तो यह है कि ए.डी.एम. भरमौर व एस.डी.एम. भरमौर दिन भर हैलीटैक्सी सेवा को लेकर फोन पर भी लोगों की शिकायतें सुनने के साथ-साथ यात्रा पर आने वाले वी.वी.आई.पी. के फोन सुनने में व्यस्थ रहते हैं। आखिर हो भी क्यों नहीं क्योंकि इन दो अधिकारियों पर भी सही मायने में पूरी यात्रा का दारोमदार रहता है। हैलीटैक्सी सेवा से संबंधित कंपनी व प्रशासन के बीच अनुबंध का जिम्मा भी ए.डी.एम.भरमौर पर रहता है। समय पर उड़ानें करवाने के साथ-साथ कंपनी की मनमानी को रोकने से लेकर उड़ानों से संबंधित लोगों की परेशानी को सुनने का जिम्मा भी इन्हीं पर है। इन सब बातों को ध्यान में रखा जाए तो 15 अगस्त से भरमौर प्रशासन इस काम में पूरी तरह से व्यस्थ है। रही सही कसर मौसम पूरी कर रहा है।
PunjabKesari
शाम 4 बजे हुइ पहली उड़ान
मणिमहेश यात्रा शुरू होने से कुछ दिनों तक तो एक ही हैलीकाप्टर उड़ाने भरता रहा। दूसरे हैलीकाप्टर की सेवा शुरू नहीं होने के चलते करीब 800 लोगों का बैकलॉग चला हुआ था। अब चूंकि शनिवार से दूसरा हैलीकाप्टर अपनी सेवाएं देने में जुट गया है तो मौसम इसमें बार-बार अपनी टांग अड़ा कर प्रशासन के लिए सिरदर्द पैदा करने का काम कर रहा है। शनिवार को कुछ घंटों तक भरमौर-गौरीकुंड के बीच उड़ानें नहीं हुईं तो रविवार को शाम 4 बजे पहली उड़ान हुई, ऐसे में सुबह से शाम 4 बजे तक हवाई सेवा प्राप्त करने वाले लोगों को भारी मानसिक परेशानी का सामना करने के लिए मजबूर होना पड़ा। जानकारी के अनुसार यूं तो हर दिन सुबह 6 बजे से भरमौर-गौरकुंड के बीच हवाई उड़ानें होती हैं लेकिन रविवार को सुबह से ही मौसम खराब रहा।

घंटों इंतजार करने के लिए मजबूर रहे यात्री
हैलीटैक्सी सेवा मुहैया करवाने वाली कंपनी के पायलटों से लेकर यात्री मौसम के खुलने का घंटों तक इंतजार करने के लिए मजबूर रहे। शाम करीब 4 बजे जैसे ही मौसम ने अपने रुख में बदलाव किया तो दोनों हैलीकाप्टर यात्रियों को लेकर भरमौर से गौरीकुंड व गौरीकुंड से भरमौर लाने ले जाने में जुट गए। ए.डी.एम.भरमौर विनय धीमान ने बताया कि मौसम का साथ नहीं देने के चलते लोगों को हवाई सेवा प्राप्त करने में परेशानी पेश आ रही है। रविवार शाम तक हवाई सेवा पाने वालों में करीब 600 लोगों का बैकलॉग चला हुआ है। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !