हिमाचल के इस धार्मिक स्थल में नहीं रुक रही बैक डोर एंट्री

  • हिमाचल के इस धार्मिक स्थल में नहीं रुक रही बैक डोर एंट्री
You Are HereHimachal Pradesh
Sunday, July 16, 2017-5:15 PM

चिंतपूर्णी: हिमाचल प्रदेश के सबसे अधिक चढ़ावे वाली शक्तिपीठ मां चिंतपूर्णी के मंदिर में व्यवस्थाएं तार-तार हो रही हैं। यहां खास और आम श्रद्धालुओं में काफी फर्क होता है। बैक डोर एंट्री के जरिए लाए गए श्रद्धालुओं को पवित्र पिंडी के आगे पहुंचा दिया जाता है। उन्हें दर्शनों का विशेष अवसर दिया जाता है। आगे खड़े इन विशेष श्रेणी के श्रद्धालुओं को न केवल सिरोपा स्वरूप माता की चुनरी भेंट की जाती है बल्कि उनकी विशेष प्रार्थनाएं भी करवाई जाती हैं। अन्य श्रद्धालु पीछे खड़े दर्शनों को तरसते रहते हैं लेकिन कुछ विशेष लोग जो दर्शनों के लिए बैक डोर एंट्री के जरिए लाए जाते हैं उनका खास ध्यान रखा जाता है।

प्रतिबंध के बावजूद फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी
 इन श्रद्धालुओं को न केवल दर्शनों में तरजीह दी जाती है बल्कि प्रतिबंध के बावजूद इनकी फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी भी की जाती है। काफी देर तक यह श्रद्धालु विशेष दर्शन करते हैं तो पीछे लाइन से आने वाले श्रद्धालु न तो दर्शन कर पाते हैं, न उन्हें सही ढंग से माथा टेकने दिया जाता है और न ही फोटो खींचने दिए जाते हैं। यह कैसा न्याय है। उनका क्या कसूर है जो 5 या 6 घंटे लाइनों में लगे होते हैं। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!