DC Office के बाहर धारा-144 तोड़ने का प्रयास, पुलिस ने रोके ABVP के कार्यकर्ता

  • DC Office के बाहर धारा-144 तोड़ने का प्रयास, पुलिस ने रोके ABVP के कार्यकर्ता
You Are HereHimachal Pradesh
Thursday, August 31, 2017-8:28 PM

शिमला: बहुचर्चित गुड़िया मामले में पुलिस द्वारा पकड़े गए आरोपियों के डी.एन.ए. सैंपल न मिलने की खबर फैलने पर अखिल भारतीय विद्यार्थी ने कड़ा रुख अख्तियार कर लिया है। गुस्साए कार्यकर्ताओं ने जहां राजधानी में वीरवार को जिलाधीश कार्यालय के बाहर प्रदर्शन कर पुलिस व प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर खूब हंगामा किया, वहीं प्रदर्शनकारी यहां धारा-144 तोडऩे पर भी आमादा हो गए। हालांकि पुलिस प्रशासन द्वारा रोके जाने पर विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने सी.टी.ओ. चौक पर बैठ कर ही धरना-प्रदर्शन शुरू कर दिया।
PunjabKesari
सरकार के इशारे पर बचाए जा रहे मुख्य आरोपी
इस दौरान ए.बी.वी.पी. की प्रदेश मंत्री हेमा ठाकुर ने पुलिस प्रशासन व प्रदेश सरकार पर हमला बोलते हुए आरोप जड़ा कि यहां सरकार के इशारे पर मुख्य आरोपियों को बचाया जा रहा है। उनका आरोप है कि गुड़िया मामले में पुलिस द्वारा पकड़े गए आरोपियों का डी.एन.ए. न मिलने की खबर से यह स्पष्ट हो गया है कि इस मामले की जांच को लेकर शुरू से ही अनियमितता बरती गई है और चहेतों को बचाने की कोशिश की जा रही है। 

मुख्यमंत्री से मांगा इस्तीफा
उन्होंने प्रदर्शन के दौरान गुड़िया मामले को लेकर मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह से इस्तीफा देने की मांग उठाई, साथ ही चेतावनी दी कि मुख्यमंत्री द्वारा इस्तीफा न देने की स्थिति में विद्यार्थी परिषद पूरे प्रदेश के कालेजों से परिषद के कार्यकर्ताओं को एकजुट करेगी व प्रदर्शन के माध्यम से उनसे इस्तीफे की मांग उठाएगी। प्रदर्शन को नगर अध्यक्ष ललित ठाकुर, कमलेश, शिखा व रमन सहित अन्य ने संबोधित किया।

प्रदेश में कानून व्यवस्था चौपट 
उधर, नगर अध्यक्ष ललित ने कहा कि कि प्रदेश में कानून व्यवस्था चौपट है व कानून की रक्षक पुलिस लोगों की भक्षक बन चुकी है। उन्होंने सी.बी.आई. से मांग की है कि जांच तेज की जाए व गुड़िया के असली कातिलों को तुरंत गिरफ्तार किया जाए। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!