Subscribe Now!

Exclusive जिस कांग्रेस ने बापू की बात नहीं मानी, उसके नेता मांग रहे हिसाब: अनुराग (Video)

You Are HereHimachal Pradesh
Tuesday, February 13, 2018-12:19 PM

ऊना (सुरेन्द्र शर्मा): हमीरपुर लोकसभा क्षेत्र से तीसरी बार सांसद बने अनुराग ठाकुर बी.सी.सी.आई. जैसी सर्वोच्च संस्था के अध्यक्ष पद पर भी सुशोभित हो चुके हैं। 3 बार भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के तौर पर काम कर चुके अनुराग देश के उन सांसदों में शुमार हैं जिनकी लोकसभा में सबसे ज्यादा हाजिरी दर्ज करवाने का भी रिकॉर्ड है। कई मुद्दे संसद में उठाने वाले अनुराग युवा चेहरे के रूप में देश भर में अलग पहचान रखते हैं। प्रदेश को पहला अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम प्रदान करने वाले ठाकुर को कई बार विपक्ष के तीखे हमलों का शिकार भी होना पड़ता है। एच.पी.सी.ए. के कई मामलों में उन्हें केसों का सामना भी करना पड़ा है। उनसे विभिन्न मसलों पर पंजाब केसरी ने बातचीत की। 


सवाल: आने वाला लोकसभा चुनाव कौन लड़ेगा। क्या आप प्रत्याशी होंगे? प्रो. धूमल के भी चुनाव लडऩे को लेकर चर्चाएं सामने आ रही हैं।
अनुराग: भाजपा ने 3 बार हमीरपुर लोकसभा क्षेत्र से टिकट दिया। पार्टी के कार्यकर्ताओं की मेहनत और क्षेत्र के लोगों के समर्थन और सहयोग से विजयी होने में कामयाब रहा हूं। चुनाव को अभी समय है। कार्यकर्ता कभी तय नहीं करता कि चुनाव कौन लड़ेगा। इसका फैसला पार्टी हाईकमान करती है। जब चुनाव आएंगे तो इसका फैसला हाईकमान करेगी। हां मीडिया में कई आंकलन और चर्चाएं चलती हैं जिसका कोई अर्थ नहीं होता है। 2001 से 2014 तक मोदी को तीखी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा। चुनाव से पहले कोई नहीं मानता था कि भाजपा को बहुमत मिलेगा और मोदी पी.एम. बनेंगे। चुनाव आया तो नतीजे सबके सामने हैं। अभी क्या आंकलन और चर्चाएं हैं, इसकी जानकारी नहीं है। मैं पार्टी का कार्यकर्ता हूं। जो आदेश होंगे उसी के अनुसार कार्यकर्ता के तौर पर काम करूंगा।


सवाल : प्रो. धूमल सी.एम. चेहरा थे। फिर सुजानपुर में चूक कहां हुई?
अनुराग: अभी  45 दिन का समय हुआ है। अध्ययन की आवश्यकता है लेकिन हार को लेकर किसी पर आरोप-प्रत्यारोप न तो लगाए हैं और न ही ऐसा काम होगा। भविष्य में कैसे बेहतर हो इसको लेकर यदि कोई व्यक्ति आगे बढ़ता है तो उसका नाम धूमल है। 7-7 घंटे कार्यकर्ताओं से संवाद और सीधे ग्राम केंद्रों तक पहुंच बनाकर फीडबैक ली जा रही है। हार के साथ ही कार्यकर्ताओं के साथ संवाद शुरू कर दिया गया। धूमल ने बतौर सी.एम. भी बेहतर काम किया और अब भी वह कार्यकर्ताओं से उसी तरह मिल जुलकर काम कर रहे हैं। सभी कार्यकर्ताओं के लिए पहले भी धूमल आदर्श थे और अब उससे ज्यादा आदर्श होकर उभरे हैं। पार्टी उनके लिए सर्वोपरि है। 


सवाल: हमीरपुर से सी.एम. पद खोया, इसको लेकर क्या राय है?
अनुराग: सी.एम. पद खोने को लेकर आंकलन हमीरपुर की जनता को ही करना है। जनता इसका भी आंकलन करे कि 1998 से पहले हमीरपुर क्या था और 2 बार सी.एम. पद मिलने के बाद हमीरपुर में क्या बड़ा बदलाव हुआ। निश्चित रूप से सी.एम. पद तो खोया लेकिन पिछले 5 वर्षों में कांग्रेस सरकार ने जो हमीरपुर जिला की उपेक्षा विकास की दृष्टि से की वह अब भाजपा के इन 5 वर्षों में नहीं होगी। 


सवाल: आरोप है कि संसदीय हलके से बतौर सांसद कटे रहते हैं। दूरी के आरोपों पर क्या कहना है?
अनुराग: अब तो बसों के वह ड्राइवर और कंडक्टरों के नाम भी याद हैं जिनके साथ लगातार दिल्ली और हमीरपुर के बीच सफर करता हूं। बसों के ड्राइवर व कंडक्टर भी इस बात के गवाह हैं कि मैं कितना सफर करता हूं और लगातार क्षेत्र के साथ संबंध रखता हूं। किसी को उत्तर देने की जरूरत नहीं है। लोकसभा सत्र और संसदीय समितियों की बैठक के लिए 200 दिन की आवश्यकता होती है। इसके बावजूद लगातार प्रत्येक हलके में पहुंचता हूं। एक-एक गांव और कार्यकर्ता के साथ सीधा संबंध है। 


सवाल: कांग्रेस पार्टी 3 बार के सांसद से हिसाब मांग रही है। क्या उपलब्धियां रही हैं?
अनुराग: कांग्रेस पहले अपने 50 वर्ष के शासनकाल का हिसाब दे। भाजपा के कार्यक्रमों की नकल न करे। गांधी जी ने कांग्रेस को खत्म करने की बात कही थी। कांग्रेस का काम ही देश में अराजकता फैलाना है। हिसाब देने लगूंगा तो कई रजिस्टर भर जाएंगे। शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क और रेल के मामले में वह प्रोजैक्ट लाया हूं जो कांग्रेस ने सपने में भी नहीं सोचे थे। बिलासपुर में एम्स, हाइड्रो इंजीनियरिंग कॉलेज, ऊना में ट्रिप्पल आई.टी., पी.जी.आई. सैटलाइट सैंटर, देहरा के लिए सैंट्रल यूनिवर्सिटी, हमीरपुर के लिए मैडीकल कॉलेज, ऊना में आई.ओ.सी. का टर्मिनल, हमीरपुर के लिए रेल पहुंचाने के लिए सर्वे मुकम्मल, 102 करोड़ रुपए का और बजट, दौलतपुर तक रेल पहुंचाई, आगे जमीन का अधिग्रहण, बिलासपुर के लिए 120 करोड़ इस वर्ष ही मंजूर करवाए हैं। रेल में ही प्रत्येक वर्ष 350 से 400 करोड़ रुपए बजट में मिल रहे हैं। जब 5 वर्ष पूरे होंगे, चुनाव आएगा तो जनता को हिसाब दूंगा। कांग्रेसी तो प्रदेश सरकार के 45 दिनों का ही हिसाब मांगने लगे हैं। 


सवाल: क्रिकेट के मामले में एक स्टेडियम के निर्माण के बाद भविष्य की क्या योजना है?
अनुराग: धर्मशाला में क्रिकेट का अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम का निर्माण किया और प्रदेश को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलवाई लेकिन बदले में कांग्रेस सरकार ने दर्जनों केस दिए। मेरा काम आगे बढऩे का है। नादौन के अमतर, शिमला शहर, बिलासपुर के लुहणू तथा गुम्मा में क्रिकेट स्टेडियमों का निर्माण किया है। प्रदेश सरकार अब जहां जमीन देगी वहीं बेहतर स्टेडियम का निर्माण किया जाएगा। मेरा काम पॉजीटिव है और मैं हमेशा आगे बढऩे की सोचता हूं। 


सवाल: लोकसभा चुनाव में क्या मुद्दे होंगे और चुनाव जीतने पर क्या एजैंडा विकास को लेकर रहेगा। 
अनुराग: केंद्र की मोदी सरकार की उपलब्धियां और प्रत्येक सरकार के विकास को लेकर जनता के बीच पार्टी जाएगी। 3 कार्यकाल के दौरान हमीरपुर संसदीय हलके को मिले अनेक प्रोजैक्टों के पूरा होने पर युवाओं को रोजगार और स्वरोजगार से जोडऩे का प्रमुख दायित्व रहेगा। पर्यटन के क्षेत्र में काम करेंगे। 24 नैशनल हाइवे इस संसदीय हलके में बनेंगे तो यहां पर्यटन की अपार संभावनाएं भी बढेंगी। रोजगार भी बढ़ेगा लेकिन सवाल कांग्रेस से है कि लम्बे शासनकाल के बावजूद प्रदेश को उन्होंने कितने नैशनल हाइवे मंजूर करवाए। कांग्रेस भी जनता को इसका हिसाब और जवाब दे। 


सवाल: प्रदेश सरकार के अब तक के कार्यकाल को कैसा मानते हैं?
अनुराग: प्रदेश सरकार मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अगुवाई में जबरदस्त कार्य कर रही है। वृद्धों को तोहफा दिया है तो होशियार और गुडिय़ा हैल्पलाइन देकर लोगों का विश्वास बहाल किया है। केंद्र सरकार के साथ मिलकर प्रदेश सरकार प्रदेश के विकास की ओर बढऩे लगी है। अब लोगों को कांग्रेस के माफियाराज से मुक्ति मिली है। 


अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन