Subscribe Now!

अनुराग बोले-जिन्हें बजट पढ़ना नहीं आता वे कर रहे टिप्पणियां

  • अनुराग बोले-जिन्हें बजट पढ़ना नहीं आता वे कर रहे टिप्पणियां
You Are HereHimachal Pradesh
Monday, February 12, 2018-12:50 AM

ऊना: सांसद अनुराग ठाकुर ने बंगाणा में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए कहा जिन लोगों को बजट पढ़ना नहीं आता, वे कांग्रेसी उस पर टिप्पणियां करते हैं। उन्होंने कहा कि जिन कांग्रेसियों के समय में आधा किलोमीटर रेल का सर्वे 5 वर्ष में नहीं होता था, वे कांग्रेसी पूछ रहे हैं कि रेल का सर्वे क्या होता है। उन्होंनेे कहा कि 2 वर्षों के भीतर ऊना-हमीरपुर रेललाइन का प्रारंभिक सर्वे पूरा कर अब फाइनल लोकेशन सर्वे के लिए 102 करोड़ रुपए की राशि का प्रावधान किया गया है। 

मार्च माह के अंत तक दौलतपुर चौक पहुंचेगी रेल
उन्होंने कहा कि मार्च माह के अंत तक दौलतपुर चौक में रेल पहुंचाई जाएगी। ऊना तक रेल सांसद के तौर पर प्रो. धूमल ने पहुंचाई थी। इससे आगे चुरूड़ू तक रेल पहुंचाने का श्रेय पूर्व सांसद सुरेश चंदेल को है, जबकि अम्ब तक रेल पहुंचाने में उन्होंने खुद काम किया है। अब दौलतपुर चौक रेल पहुंचने के बाद अगले 10 किलोमीटर के हिस्से के लिए भी 80 करोड़ रुपए की राशि का प्रावधान किया गया है। 

सत्ता से बाहर होकर परेशान हो चुके हैं कांग्रेस नेता
उन्होंने कहा कि जयराम सरकार के 45 दिनों का हिसाब पूछने वाले कांग्रेस नेता सत्ता से बाहर होकर परेशान हो चुके हैं। सरकार ने वृद्धों के लिए पैंशन की आयु सीमा 80 से 70 वर्ष की है। इसके अतिरिक्त एन.एच. की डी.पी.आर. तैयार करने के अतिरिक्त सरकार ने कई जनहित के फैसले लिए हैं। मोदी सरकार ने किसानों को उनकी लागत के 50 प्रतिशत से अधिक समर्थन मूल्य देने तथा 10 करोड़ परिवारों को 5 लाख तक इलाज नि:शुल्क करने जैसे ऐतिहासिक फैसले लिए हैं।  

पहले कांग्रेसी दें 50 वर्षों का हिसाब
उन्होंने कहा कि 70 वर्ष तक 7 नैशनल हाईवे भी मंजूर न करवा पाने वाले कांग्रेसी अब सांसदों से हिसाब पूछ रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब वह चुनाव का सामना करेंगे तो पूरा हिसाब देंगे लेकिन इससे पहले कांग्रेसी अपने पूर्व 5 वर्ष की सरकार तथा 50 वर्ष के शासनकाल का हिसाब भी जनता को दें। भाजपा के सांसदों ने तो प्रदेश को 70 से अधिक नैशनल हाईवे मंजूर करवाए, बिलासपुर में एम्स, हमीरपुर में मैडीकल कालेज, ऊना में पी.जी.आई. सैटेलाइट सैंटर, बिलासपुर में नैशनल हाईड्रो इंजीनियरिंग कालेज और ऊना के लिए ट्रिप्पल आई.टी. जैसे अनेक प्रोजैक्ट केंद्र से मंजूर करवाए हैं। इन सभी प्रोजैक्टों को रोकने में कांग्रेस सरकार का रोल रहा है।


अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन