गुरुग्राम केस के बावजूद लापरवाही का आलम, अभी भी नहीं जागे बच्चों के अभिभावक

  • गुरुग्राम केस के बावजूद लापरवाही का आलम, अभी भी नहीं जागे बच्चों के अभिभावक
You Are HereHimachal Pradesh
Thursday, September 14, 2017-4:42 PM

सोलन (चिनमय):गुरुग्राम के स्कूल में दिल दहला देने वाले हादसे के बावजूद हिमाचल में विद्यार्थियों की सुरक्षा राम भरोसे है। प्रशासन ने स्कूलों के लिए गाइडलाइन जारी कर एहतियात बरतने के निर्देश जारी कर दिए हैं, लेकिन स्कूलों में कहीं सुरक्षा दीवारें नहीं हैं तो कहीं दीवारों की ऊंचाई बेहद कम है। कई स्कूलों में सीसीटीवी कैमरा भी नहीं लगे हैं। कुछ स्कूल अपने यहां पढ़ने वाले छात्रों को ट्रांसपोर्ट की सुविधा नहीं दे पा रहे हैं। ऐसे में अभिभावक मिलकर टैक्सियां किराए पर लेकर बच्चों को स्कूल भेज रहे हैं। स्कूल और अभिभावकों के इस रवैये से बच्चों की सुरक्षा पर सवालिया निशाना खड़े हो रहे हैं।

अभिभावक भी लापरवाह
कुछ अभिभावक बाहरी प्रदेशों की टैक्सियों को किराए पर लेकर अपने बच्चों को स्कूल भेज रहे हैं। ऐसी टैक्सी का न तो स्कूल के पास कोई रिकॉर्ड है और अभिभावकों के पास टैक्सी ड्राइवर की पूरी पहचान है। स्कूलों ने भी ऐसी टैक्सियों की जिम्मेदारी लेने से इनकार कर दिया है। उनका कहना है कि वे सिर्फ अपनी स्कूल बसों की जिम्मेदारी ही ले सकते हैं।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!