मशोबरा में झोटों के दंगल पर प्रशासन सख्त, नियुक्त किया जांच अधिकारी

  • मशोबरा में झोटों के दंगल पर प्रशासन सख्त, नियुक्त किया जांच अधिकारी
You Are HereShimla
Thursday, October 19, 2017-12:54 AM

शिमला: मशोबरा के सायर मेले में हुए झोटों के दंगल मामले में जिला प्रशासन ने अपनी जांच तेज कर दी है। न्यायालय के निर्देश के बाद झोटों का दंगल करवाने पर जिला प्रशासन द्वारा मामले की छानबीन के लिए विशेष रूप से ए.डी.एम. प्रोटोकॉल पंकज ललित को जांच अधिकारी नियुक्त किया है। जांच को लेकर जानकारी देते हुए जिलाधीश रोहन चंद ठाकुर ने बताया कि ए.डी.एम. प्रोटोकॉल शिमला को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया है। सायर मेले में भैंसों की लड़ाई के आयोजन अथवा इस घटना के संबंध में किसी व्यक्ति के पास भी यदि कोई जानकारी, प्रत्यक्षदर्शी वृत्तांत फोटो, वीडियो अथवा अन्य कोई साक्ष्य उपलब्ध हो तो वह 23 अक्तूबर की शाम तक उसे ए.डी.एम. प्रोटोकॉल को दे सकते हैं। इस संबंध में जानकारी देने वाले का नाम-पता गुप्त रखा जाएगा।

सायल मेले में करवाई गई थी झोटों की लड़ाई 
बता दें कि मशोबरा के सायर मेले में झोटों के दंगल मामले में जिला प्रशासन ने जांच बिठा दी है। जांच पूरी होने के बाद हाईकोर्ट के निर्देशों की अवहेलना करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। 16 सितम्बर को न्यायालय के निर्देशों के बावजूद मशोबरा के सायर मेले में 3 साल बाद झोटों की लड़ाई करवाई गई। इस दौरान मेले में झोटों की लड़ाई के कवरेज कर रहे मीडिया कर्मियों को भी चोटें आई थीं। प्रदेश में तमिलनाडु के जलीकटू विवाद के बाद प्रदेश हाईकोर्ट ने भी वर्ष 2014 को पशुओं की लड़ाई करवाने पर प्रतिबंध लगा दिया था, लेकिन इस प्रतिबंध पर भी मेले में मेला कमेटी की नजरों के सामने 4-4 झोटों की लड़ाई करवाई गई। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!