‘गोली के बदले गोली व फौजी के बदले फौजी’

You Are HereHimachal Pradesh
Tuesday, September 20, 2016-8:00 PM

बिलासपुर: जम्मू-कश्मीर के उड़ी सैक्टर में भारतीय सेना पर हुए हमले पर पाकिस्तान के विरोध में मंगलवार को एबीवीपी ने बिलासपुर कालेज परिसर के बाहर प्रदर्शन किया। एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने पहले कालेज परिसर के बाहर पाकिस्तान के खिलाफ जमकर नारेबाजी की व फिर पाकिस्तान का झंडा भी फूंका। इस मौके पर उपस्थित एबीवीपी के इकाई सचिव आकाश चंदेल व व्यावसायिक शिक्षा जिला संयोजक दीपक शर्मा ने कहा कि मीडिया में उठी बातों से जानकारी में आया है कि इन आतंकवादियों को पाकिस्तानी फौज का समर्थन व मदद प्राप्त थी।


पाकिस्तानी सेना की ओर से भी लगातार सीज फायर का उल्लंघन किया जा रहा है जिससे यह स्पष्ट है कि आतंक का बीज बो रहा पाकिस्तान ऐसे नहीं मानने वाला। एबीवीपी भारत सरकार व प्रधानमंत्री से मांग करती है कि पाकिस्तान को सबक सिखाने के लिए भारतीय सेना को जवाबी कार्रवाई करने के निर्देश दिए जाएं। इस दौरान एबीवीपी ने उड़ी आतंकवादी हमले में शहीद हुए भारतीय सेना के 20 जवानों की शहादत को सलाम करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि भी दी।


पाकिस्तान को छठी का दूध याद दिलाया जाए
इसी विषय पर विश्व हिंदू परिषद व बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने बिलासपुर कोर्ट रोड पर स्थित चेतना चौक पर जोरदार प्रदर्शन किया तथा पाकिस्तान विरोधी नारे लगाते हुए पाकिस्तान का झंडा भी फूंका। इस दौरान विहिप के जिला संरक्षण अधिवक्ता तुषार डोगरा ने कहा कि भारतीय सेना के जवानों पर आतंकवादियों द्वारा किए गए पाकिस्तान प्रायोजित हमले की पूरा देश निंदा करता है। देश के नागरिकों की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री मनोहर पार्रिकर व गृह मंत्री राजनाथ सिंह से अपील है कि वे पाकिस्तान व आतंकवादियों को छठी का दूध याद दिलाने के लिए ‘गोली के बदले गोली व फौजी के बदले फौजी’ की नीति अपनाएं तथा पाकिस्तान प्रायोजित इस आतंकवाद के खिलाफ एक ठोस नीति बनाई जाए।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !